This page has moved to a new address.

पहले पति के जीवित रहते, बिना तलाक लिए दूसरा विवाह कर के पत्नी ने दंडनीय अपराध किया है