This page has moved to a new address.

पहला विवाह समाप्त हुए बिना महिला का दूसरा विवाह शू्न्य है